Monday , February 19 2018
Home / प्रदेश खबर / उत्तर प्रदेश / उत्तर प्रदेश में ट्रेन हादसा : तीन यात्रियों की मौत, नौ घायल

उत्तर प्रदेश में ट्रेन हादसा : तीन यात्रियों की मौत, नौ घायल

लखनऊ, 24 नवंबर (भाषा) उत्तर प्रदेश में मानिकपुर रेलवे स्टेशन के निकट आज तड़के एक एक्सप्रेस ट्रेन के 13 डिब्बे पटरी से उतर गये। हादसे में छह साल के बच्चे और उसके पिता सहित तीन लोगों की मौत हो गयी जबकि नौ अन्य घायल हो गये।

अधिकारियों ने बताया कि गोवा से पटना जा रही 12741 वास्को डि गामा एक्सप्रेस सुबह चार बजकर 18 मिनट पर चित्रकूट जिले में मानिकपुर रेलवे स्टेशन के प्लेटफार्म संख्या—2 से होकर गुजरी। कुछ ही दूर जाने पर ट्रेन के 13 डिब्बे पटरी से उतर गये।

चित्रकूट राजधानी लखनउ से लगभग 250 किलोमीटर की दूरी पर है।

हादसे के वक्त ट्रेन की गति बहुत धीमी होने के कारण जनहानि ज्यादा नहीं हुई है। गौरतलब है कि इसी साल अगस्त में मुजफ्फरनगर के निकट कलिंग—उत्कल एक्सप्रेस के डिब्बे पटरी से उतरने के कारण 23 यात्रियों की मौत हो गयी थी जबकि 150 अन्य घायल हो गये थे। नवंबर में कानपुर के निकट ट्रेन के डिब्बे पटरी से उतरने के कारण कम से कम 150 लोगों की मौत हो गयी थी।

अपर पुलिस महानिदेशक (कानून व्यवस्था) आनंद कुमार का कहना है कि प्रथम दृष्टया मालूम होता है कि यह हादसा पटरी में दरार आने के कारण हुआ है।

उन्होंने बताया कि हादसे का कोई तकनीकी कारण भी हो सकता है, जैसे अचानक आपात ब्रेक लगाने के कारण भी डिब्बे पटरी से उतर सकते हैं। लेकिन, इन कारणों की पुष्टि सिर्फ रेल अधिकारी ही कर सकते हैं।

कुमार ने बताया कि उत्तर प्रदेश सरकार ने ट्रेन हादसे की जांच उत्तर प्रदेश पुलिस के आतंकवाद रोधी दस्ते (एटीएस) को सौंपी है।

उन्होंने कहा कि एटीएस से कहा गया है कि वह दुर्घटना की विस्तृत जांच करने के बाद यह बताये कि कहीं यह पटरियों के तोड़फोड़ का मामला तो नहीं है।

हादसे पर रेल मंत्री पीयूष गोयल ने दुर्घटना पर गहरा दुख प्रकट करते हुए मृतकों के परिजनों को पांच-पांच लाख रुपये, गंभीर रूप से घायलों को एक-एक लाख रुपये और अन्य घायलों को 50-50 हजार रुपये अनुग्रह राशि देने का ऐलान किया है।

गोयल ने रेलवे सुरक्षा आयुक्त द्वारा जांच कराने का आदेश दिया। उन्होंने ट्वीट किया है, ‘‘राहत एवं बचाव कार्य तत्काल शुरू कर दिया गया। उत्तर प्रदेश के मानिकपुर में वास्को डि गामा—पटना एक्सप्रेस के डिब्बे पटरी से उतरने के मामले की जांच के आदेश दिये गये हैं।’ उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने चित्रकूट जिले में आज हुई रेल दुर्घटना में यात्रियों की मृत्यु पर गहरा दुःख व्यक्त करते हुए मृतक यात्रियों के परिजनों के लिए दो-दो लाख रुपए की आर्थिक सहायता का ऐलान किया।

राज्य सरकार के एक प्रवक्ता ने यहां बताया कि मुख्यमंत्री ने इस दुर्घटना में गम्भीर रूप से घायल यात्रियों को पचास-पचास हजार रुपए एवं मामूली रूप से घायलों को पच्चीस-पच्चीस हजार रुपए की आर्थिक सहायता प्रदान के निर्देश भी दिए।

उन्होंने बताया कि इस दुर्घटना में घायल यात्रियों के समुचित एवं त्वरित उपचार के निर्देश पहले ही अधिकारियों को दिए जा चुके हैं।

योगी ने यात्रियों की मृत्यु पर गहरा दुःख व्यक्त किया। उन्होंने शोक संतप्त परिजनों के प्रति अपनी संवेदना भी व्यक्त की।

चित्रकूट के पुलिस अधीक्षक प्रताप गोपेन्द्र सिंह ने घटनास्थल से फोन पर भाषा को बताया कि गोवा से पटना जाने वाली 12741 वास्को डि गामा एक्सप्रेस आज तड़के करीब सवा चार बजे मानिकपुर जंक्शन के प्लेटफॉर्म फॉर्म संख्या-दो से गुजर रही थी। ट्रेन जैसे ही प्लेटफॉर्म से कुछ दूर आगे बढ़ी, उसके तेरह डिब्बे पटरी से उतर गए।

सिंह ने बताया कि इस हादसे में तीन यात्रियों की मौके पर ही मौत हो गई है। हादसे में मारे गये पिता—पुत्र गोलू :6: और दीपक कुमार :30: बिहार के पश्चिम चम्पारण जिले में बेतिया रहने वाले थे। दोनों की मौके पर ही मौत हो गयी जबकि एक अन्य ने अस्पताल में दम तोड़ा। तीसरे मृतक की तत्काल पहचान नहीं हो सकी है।

उन्होंने बताया कि हादसे में नौ यात्री घायल हो गए हैं। इनमें दो को गंभीर हालत में जिले के अस्पताल में दाखिल कराया गया है। अन्य घायलों को स्थानीय अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

उत्तर—मध्य रेलवे के जनसंपर्क अधिकारी अमित मालवीय ने बताया कि एस—तीन से एस—11 तक शयनयान डिब्बे, दो जनरल कोच और दो अतिरिक्त कोच पटरी से उतरे।

उन्होंने बताया कि घायलों को तत्काल अस्पताल पहुंचाया गया है और राहत—बचाव कार्य जारी है।

मालवीय ने बताया कि दुर्घटना के बाद एक मेडिकल ट्रेन घटनास्थल के लिए तुरंत रवाना कर दी गयी। सुबह पांच बजकर 20 मिनट पर दुर्घटना राहत ट्रेन भी मौके पर रवाना कर दी गयी।

रेलवे बोर्ड के चेयरमैन अश्विनी लोहानी और इलाहाबाद के मंडल रेल प्रबंधक :डीआरएम: मौके पर पहुंच गये हैं।

रेलवे के प्रवक्ता अनिल सक्सेना ने पीटीआई को बताया कि जिस रूट पर दुर्घटना हुई, उसे साफ कर लिया गया है और अब यह ट्रेनों के परिचालन के लिए तैयार है।

रेलवे बोर्ड के चेयरमैन अश्वनी लोहानी अपना इलाहाबाद का कार्यक्रम रद्द कर घटनास्थल पहुंच गए हैं।

उन्होंने बताया कि दुर्घटना की सूचना मिलते ही महाप्रबंधक (एनसीआर) एम.सी. चौहान, मंडल रेल प्रबंधक, इलाहाबाद और अन्य वरिष्ठ अधिकारियों के साथ घटनास्थल के लिए रवाना हो गए।

इसी क्रम में एआरएमई इलाहाबाद से पांच बजकर दस मिनट पर रवाना होकर पौने सात बजे तथा एआरटी पांच बजकर बीस मिनट पर चलकर सात बजे घटनास्थल पर पहुंच गया और राहत एवं बचाव कार्य प्रारंभ कर दिया।

रेलवे ने हेल्पलाइन नंबर : 05322226276 शुरू किया है, जिस पर विस्तृत जानकारी ली जा सकती है।

रेल मंत्रालय के वरिष्ठ अधिकारी राष्ट्रीय आपदा रेस्पांस बल :एनडीआरएफ: की टीम के साथ राहत एवं बचाव कार्य के लिए मौके पर गये हैं। एक मेडिकल ट्रेन भी हादसे वाली जगह भेजी गयी है।

दुर्घटना के बाद पटना—इलाहाबाद रूट पर ट्रेनों का परिचालन बाधित हुआ है।

About Dr.Dinkar Prakash

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *