Monday , February 19 2018
Home / Top / अब पंजाब में रेल हादसा, ड्राइवर की मौके पर हुई मौत

अब पंजाब में रेल हादसा, ड्राइवर की मौके पर हुई मौत

तमाम कोशिशों के बाद भी रेल हादसे थम नहीं रहे हैं. इस बार पंजाब में रेल हादसा हुआ है. इस हादसे में रेल ड्राइवर (लोको पायलट) की मौके पर ही मौत हो गई है. न्यूज एजेंसी ANI के मुताबिक एक कंक्रीट मिक्सर ट्रक रविवार को फजिल्का में मानवरहित फाटक पर एक ट्रेन से टकरा गया, जिससे लोको पायलट की मौत हो गयी. राजकीय रेल पुलिस के अधिकारियों के अनुसार डीएमयू ट्रेन सुबह फिरोजपुर से फजिल्का जा रही थी, उसी दौरान लधुका गांव के पास ट्रक ने ट्रेन को टक्कर मार दी. प्रत्यक्षदर्शियों ने बताया कि टक्कर इतनी भीषण थी कि मिक्सर गाड़ी ट्रेन में फंस गयी जिससे लोको पायलट विकास केपी की मौत हो गयी. मिक्सचर ट्रक के चालक के खिलाफ एक मामला दर्ज किया गया है. पुलिस के अनुसार ट्रक चालक फरार है. हादसे का अंदाज इसी बात से लगाया जा सकता है कि ट्रक ट्रेन की ईंजन से जाकर चिपक गया.

भारत में 1988 के बाद से हुए बड़े रेल हादसों का घटनाक्रम इस प्रकार है :- 

21 जनवरी, 2017 : आंध्र प्रदेश के विजयनगरम जिले में जगदलपुर-भुवनेश्वर हीराखंड एक्सप्रेस का इंजन और नौ डिब्बे पटरी से उतर जाने की वजह से कम से कम 39 लोगों की मौत हो गई और 69 घायल हो गए.

28 दिसंबर, 2016 : कानपुर देहात जिले के रूरा रेलवे स्टेशन के निकट एक पुल को पार करते हुए सियालदह-अजमेर एक्सप्रेस के 15 डिब्बे पटरी से उतर जाने की वजह से 62 यात्री घायल हो गए थे.

20 नवंबर, 2016 : उत्तर प्रदेश के कानपुर देहात जिले में पुखराया के निकट इंदौर-पटना एक्सप्रेस के 14 डिब्बों के पटरी से उतर जाने की वजह से 100 से ज्यादा यात्रियों की मौत हो गई जबकि 200 घायल हो गए.

10 जुलाई, 2011 : दिल्ली जाने वाली कालका मेल के 15 डिब्बे पटरी से उतर जाने की वजह से 70 यात्रियों की मौत हो गई और सैकड़ों घायल हो गए.

28 मई, 2010 : पश्चिम बंगाल के पश्चिमी मेदिनीपुर जिले में नक्सलियों द्वारा ज्ञानेश्वरी एक्सप्रेस को पटरी से उतार देने की घटना में कम से कम 148 लोगों की मौत हो गई थी.

नौ सितंबर, 2002 : बिहार के औरंगाबाद जिले में हावड़ा-दिल्ली राजधानी एक्सप्रेस का एक डिब्बा धावी नदी में गिर जाने की वजह से 100 लोगों की मौत हो गई थी और 150 घायल हो गए थे.

दो अगस्त, 1999 : असम के गैसल में 2,500 यात्रियों को ले जा रही दो ट्रेनों के बीच हुई टक्कर में कम से कम 290 लोगों की मौत हो गई थी.

26 नवंबर, 1998 : पंजाब में खन्ना के निकट पटरी से उतरी फ्रंटियर मेल के डिब्बों से जम्मू तवी-सियालदह एक्सप्रेस की टक्कर में कम से कम 212 लोगों की मौत हो गई थी.

14 सितंबर, 1997 : मध्य प्रदेश के बिलासपुर जिले में अहमदाबाद-हावड़ा एक्सप्रेस के पांच डिब्बों के नदी में गिरने की वजह से 81 लोगों की मौत हो गई थी.

20 अगस्त, 1995 : उत्तर प्रदेश में फिरोजाबाद रेलवे स्टेशन के निकट पुरूषोत्तम एक्सप्रेस के कालिंदी एक्सप्रेस से टकरा जाने की वजह से 400 लोगों की मौत हो गई थी.

18 अप्रैल, 1988 : उत्तर प्रदेश में ललितपुर के निकट कर्नाटक एक्सप्रेस के पटरी से उतर जाने की वजह से कम से कम 75 लोगों की मौत हो गई थी.

8 जुलाई, 1988 : केरल में अष्टमुडी झील में आइलैंड एक्सप्रेस के गिर जाने की वजह से 107 लोगों की मौत हो गई.

About Editor

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *